उत्तर प्रदेश की तकनीकी शिक्षा डिजिटल प्रक्रिया की ओर

Press Release

भारत सरकार की डिजिटल इण्डिया के अनुक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की प्रेरणा एवं निर्देशन में प्राविधिक शिक्षा परिषद द्वारा अन्तिम सेमेस्टर/वार्षिक परीक्षा (अन्तिम वर्ष) बैक पेपर/विशेष बैक पेपर परीक्षा सितम्बर, 2020 परीक्षा के प्रश्नपत्रों का प्रथम बार डिजिटल रूप में (ऑनलाइन) संप्रेषण परीक्षा केन्द्रों पर सफलतापूर्वक किया गया।

प्रदेश के 186 परीक्षा केन्द्रों पर 25 सितम्बर से 12 अक्टूबर, 2020 के मध्य संचालित परीक्षा में 75000 परीक्षार्थियों ने सम्मिलित होकर निष्पक्ष ढंग से ऑनलाइन परीक्षा दी है।

डिजिटली परीक्षा कराने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कार्य परीक्षा केन्द्रों पर प्रश्नपत्रों के संप्रेषण का होता है। परीक्षा केन्द्रों को ऑनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषित किये जाने की प्रक्रिया से परिचित कराने के लिए ए0के0टी0यू0 लखनऊ के सहयोग से लगातार मॉक टेस्ट की प्रक्रिया आयोजित की गई, जिसमें ऑनलाइन प्रश्नपत्र संप्रेषण के लिए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये गये। प्रदेश में 103 राजकीय, 18 अनुदानित एवं 65 निजी क्षेत्र की कुल निर्धारित 186 परीक्षा केन्द्रों पर ऑनलाइन परीक्षा सम्पादित की गई। डिजिटल परीक्षा कराने पर काफी राजस्व और समय की बचत भी हुई। क्योंकि ऑफलाइन परीक्षा कराने से प्रिंटिंग प्रेस से प्रश्नपत्र छपवाना, उसे सुरक्षा में परीक्षा केन्द्रों तक भेजने के लिए वाहन की व्यवस्था, कार्मिक लगाना आदि कार्यों में धन एवं समय लगता है। ऑनलाइन परीक्षा कराने से भारी मात्रा में राजस्व की बचत हुई साथ ही समय की भी बचत हुई और परीक्षा कार्य में लगे कार्मिकों को भी सुविधा हुई।

प्रदेश में उत्तर पुस्तिकाओं को पहली बार डिजिटल मूल्यांकन पायलट प्रोजेक्ट के रूप में किया जा रहा है। इससे मूल्यांकन केन्द्रों पर भारी वाहन से उत्तर पुस्तिकाएं भेजने पर जो धनराशि व्यय होती थी, अब उस धनराशि की बचत होगी। डिजिटल मूल्यांकन पद्धति अपनाने से मूल्यांकन केन्द्रों पर परीक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं है। परीक्षक अपनी परीक्षक लॉगिन आई0डी0 से प्राप्त उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन अपनी सुविधानुसार कहीं से भी कर सकते हैं। प्रदेश सरकार ने कोविड-19 को दृष्टिगत रखते हुए इस वर्ष पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा 2020-21 की 23 जनपदों में ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा सफलतापूर्वक सम्पन्न कराया है।

पॉलिटेक्निक संयुक्त प्रवेश परीक्षा के इतिहास में पहली बार 15 सितम्बर, 2020 को 23 जनपदों के निर्धारित 117 परीक्षा केन्द्रों पर ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई जिसमें 20827 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए। ऑनलाइन परीक्षा होने से रिजल्ट भी शीघ्र आ गया है। ऑफलाइन परीक्षा भी प्रदेश के 75 जनपदों के 927 परीक्षा केन्द्रों पर कराई गई थी।

प्रदेश सरकार द्वारा प्राविधिक शिक्षा की इस वर्ष की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा की सफलता को देखते हुए अगले वर्ष की सम्पूर्ण प्रवेश परीक्षा ऑनलाइन कराने की व्यवस्था कर रही है। डिजिटल इण्डिया की ओर प्रदेश के बढ़ते कदम से काफी राजस्व व समय की बचत होगी।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.