इटावा: बसरेहर सामाजिक उत्थान सेवा समिति द्वारा दिया गया ज्ञापन

Press Release

जनपद इटावा मैं ग्राम पंचायत मंत्री रोजगार सेवकों द्वारा लगभग 1 सप्ताह से धरना देकर मुख्य विकास अधिकारी इटावा पर मनगढ़ंत आरोप लगा जा रहे जिसका ना कोई सबूत है और ना ही कोई वीडियो रिकॉर्डिंग ऑडियो रिकॉर्डिंग के अनुसार इन्होंने मुख्य विकास अधिकारी की आवाज में वॉइस रिकॉर्डिंग तैयार करा रखा है जिला के जिम्मेदार अधिकारी ग्राम पंचायत अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने में सक्षम दिखाई नहीं पड़ रहे हैं

सामाजिक उत्थान सेवा समिति ने माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश ज्ञापन देते हुए कहां है कि भ्रष्टाचार में संलिप्त पंचायत मंत्री रोजगार सेवक सरकार द्वारा जनहित में चलाई गई विकास योजनाओं में भारी भ्रष्टाचार किया गया जिसकी जांच आम जनता द्वारा निरंतर की जा रही है जांच में शौचालय के नाम पर जनपद इटावा में करोड़ों रुपए का घोटाला सामने आ रहा है

प्रधानमंत्री आवास योजना पात्रों की बजाए अपात्र को वितरण की गई पात्र आर्थिक संसाधन न जुटा पाने के कारण लाभ से वंचित रह गए इसी प्रकार चाहे गांव रोशन के नाम पर लगाई गई लाइटें कूड़ा गाड़ी कच्चे मार्ग तथा गलियों में आरसीसी निर्माण में भी भारी भ्रष्टाचार किया गया ज्ञापन में कहा गया है सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का आरोप ग्राम पंचायत मंत्रियों पर रोजगार सेवकों पर बनता है जो लगभग एक हफ्ता से सरकारी कार्य में बाधा पहुंचा रहे जिससे आम जनता काफी परेशान है माननीय मुख्यमंत्री से मांग की गई जब तक पंचायत मंत्री रोजगार सेवक काम पर वापस नहीं आते इनका वेतन काट लिया जाए अगर फिर भी सुधार नहीं होता है तूने तत्काल निलंबित किया जाना चाहिए सामाजिक उत्थान सेवा समिति के संरक्षक राम कुमार सविता ने माननीय मुख्यमंत्री को 1 सप्ताह के अंदर कठोर कार्रवाई करने की मांग करती है

अगर कार्रवाई नहीं होती है तो मजबूरन उच्चतम न्यायालय के न्यायधीश से अपील करते हुए इनके भ्रष्टाचार गठबंधन पर सरकारी कार में बांदा पहुंचाना के लिए।

रिपोर्ट: राजेश प्रजापति

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.