आगरा: सर्वधर्म समभाव की जीती जागती मिसाल थी पीर अलहाज रमज़ान अली शाह: विजय कुमार जैन

Press Release

हज़रत ख्वाजा शैख सय्यद फतिह उद्दीन बल्खी अल्मारूफ़ तारा शाह चिश्ती साबरी रहमतुल्लाह अलैह के सज्जादानशीन पीर अलहाज रमज़ान अली शाह चिश्ती साबरी रहमतुल्लाह अलैह के छह माही फातिहा ख्वानी का आयोजन ईदगाह कटघर कब्रिस्तान में स्थित मजार शरीफ पर किया गया । जिसमे कुरआन ख्वानी , चादर पोशी गुलपोशी इत्र पेश किया गया ।

फातिहा ख्वानी के बाद मुल्क के अमन चैन की दुआ और कोरोनावायरस के खात्मे की दुआ के साथ हाजरीन जायरीन मुरीदीन की फलाहियत की दुआ बारगाह ए मुर्शिद में की गई। दुआ के बाद महासचिव विजय कुमार जैन ने कहा कि पीर साहब सर्वधर्म समभाव की जीती जागती मिसाल थी । पीर साहब ने मानवीय एकता कायम करने की दिशा में बहुत ही बेहतरीन तरीके से काम किया और एक महकता हुआ रंग बिरंगा गुलशन तैयार किया जो एकता की एक बेहतरीन मिसाल है । पीर साहब ने बुजुर्गों की मुहब्बत और एकता की शिक्षा का प्रचार प्रसार किया । अब पीर साहब की शिक्षा को आम करने की ज़िम्मेदारी हम सब मुरीदों की है कि हम अपने पीर के गुलशन को इसी तरह से सजाए रखें ।

फातिहा ख्वानी और दुआ के बाद पीर साहब की बारगाह मै मशहूर शायरों ने अपने कलाम पेश किए । प्रोग्राम में धर्मगुरु महंत योगेश पुरी, मौलाना उजैर आलम , फादर मून लाजरस , भंते ज्ञान रतन, ज्ञानी कुलविंदर सिंह,ने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करके सर्वधर्म प्रार्थना के साथ पीर साहब की रूह के लिए खास प्रार्थना की ।

लंगर तकसीम करने के साथ प्रोग्राम सम्पन्न हुआ ।
प्रोग्राम की सदारत सय्यद मेहराज उद्दीन कादरी और संचालन विजय कुमार जैन ने किया

फातिहा ख्वानी मै सर्वश्री सय्यद इनायत अली शाह अबुल उलाई, सय्यद मेहराज उद्दीन शाह , सय्यद सिनवान अली शाह, सय्यद सलीम इरफानी, सय्यद तनवीर निजामी , शाहिद नदीम , हाजी गुलजार अकबराबादी, दिलकश जालोनवी, सय्यद रिज़वान कर्रार अकबराबादी , रमज़ान खान साबरी, पुरषोत्तम साबरी, तरुण साबरी , करुण साबरी , अब्दुल सईद खान, आदि ने सरकारी आदेशो का पालन करते हुए प्रोग्राम में शिरकत की ।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.