आगरा: सर्दी का मौसम शुरू होते ही अस्पतालों में बढ़े सर्दी-जुकाम और त्वचा के मरीज़

Local News

आगरा। सर्दी का मौसम शुरू होते ही शहर में मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ बीएस यादव के मुताबिक इन दिनों अस्पताल में सर्दी-जुकाम से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। सीएमएस का मानना है कि आती सर्दी और जाती सर्दी बेहद खतरनाक होती है, ऐसे मौसम में बुजुर्गों और खासकर बच्चों को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है।

जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ बीएस यादव का कहना है कि अभी कोविड-19 का खतरा टला नहीं है। विदेशों में कोविड-19 का खतरा एक बार फिर बढ़ा है जिसके चलते यूरोप के कई देशों लॉकडाउन कर दिया गया है। अपने देश में भविष्य में कोरोना की क्या स्थिति रहेगी, इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। मगर एहतियातन जिला अस्पताल में आईसोलेशन वार्ड तैयार कर लिए गए हैं।

डॉ. बी एस यादव ने बताया कि इन दिनों जिला अस्पताल में वायरल फीवर के साथ सर्दी-जुकाम, आखों में जलन, त्वचा रोग के मरीजों की संख्या बढ़ी है। इसके अलावा डेंगू और स्वाइन फ्लू का भी खतरा बढ़ गया है। क्योंकि ऐसे मौसम में मच्छरों की संख्या ज्यादा होती है जिनके काटने से डेंगू और स्वाइन फ्लू भी हो सकता है। लिहाजा जिला अस्पताल में सर्दी की सभी बीमारियों को ध्यान में रखते हुए आइसोलेशन वार्ड भी तैयार किया है।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से आए दिशा निर्देशों का पालन करते हुए जिला अस्पताल में कोरोना के अलावा डेंगू स्वाइन फ्लू और सर्दी से संबंधित बीमारियों के लिए सभी चिकित्सकों को दिशा निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.