आगरा: ट्यूशन पढ़ने गई तीन नाबालिग बहनें रहस्यमय तरीके से हुईं लापता

Crime

आगरा। फतेहाबाद के मोहल्ला सकवार से सोमवार को ट्यूशन पढ़ने गई तीन नाबालिग बहनें रहस्यमय तरीके से लापता हो गई। इन्हें गायब करने का आरोप ताऊ की लड़की पर लगाया जा रहा है जो इनको अपने साथ नई दिल्ली ले गई। घटना की जानकारी देर शाम पुलिस को हुई। क्षेत्राधिकारी वीएस वीर कुमार एवं इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार भारी फोर्स के साथ पीड़ित के घर पहुंचे तथा पूरी जानकारी ली। पुलिस ने तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं बच्चियों की तलाश के लिए टीमें रवाना की गई हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कस्बा फतेहाबाद के मोहल्ला सकवार निवासी राजेश की तीन पुत्रियां रितिका उम्र 8 वर्ष कक्षा तीन, संजना उम्र 6 वर्ष कक्षा दो, आराध्या उम्र 5 वर्ष कक्षा केजी घर से करीब 100 मीटर दूर एक मैडम के पास प्राइवेट ट्यूशन पढ़ने जाती हैं। दोपहर 12:00 बजे वह तीनों बहनें ट्यूशन के लिए गई, 1:00 बजे ट्यूशन पढ़कर मैडम के मुताबिक वहां से निकली परंतु घर पर नहीं पहुंची। देर शाम तक घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने उसकी खोजबीन की लेकिन उनका कोई पता नहीं चल सका।

घटना की जानकारी देर शाम फतेहाबाद पुलिस को दी गई। जानकारी पर फतेहाबाद पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों से बातचीत करने पर मालूम पड़ा कि इन बच्चियों का पिता अभी 6 अक्टूबर को ही मजदूरी के लिए नई दिल्ली चला गया था।इसका अपनी पत्नी के साथ पिछले 5 वर्ष से विवाद चल रहा था। पत्नी अलग नई दिल्ली में रहती थी। तीनों ही बच्चियां अपने फतेहाबाद में अपने बाबा तथा चाचा के पास रहती थी। नई दिल्ली में ही राजेश का बड़ा भाई मोहर सिंह और उसकी पत्नी भी रहते हैं। लापता बच्चियों के दादा भाव सिंह के अनुसार मोहर सिंह की पुत्री आरती सोमवार को करीब 1:00 बजे इनके घर पर आई थी, बच्चियों के बारे में पूछताछ की और तुरंत ही वहां से चली गई। लापता बच्चियों के मोहल्ले के और बच्चों ने आरती को तीन बच्चियों के साथ देखा था। संभवत हुए उनको अपने साथ नई दिल्ली ले गई।

इस संदर्भ में क्षेत्राधिकारी बीएसबी कुमार का कहना है कि लापता बच्चियों के चाचा मोना की तहरीर पर बच्चियों के लापता होने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बच्चियों की बरामदगी के लिए टीमें गठित कर खोजबीन शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *