आगरा: ऑटो चालक के बेटे ने पिता का सपना किया पूरा, नीट परीक्षा पास कर किया नाम

Local News

आगरा। घर की माली स्थिति ठीक नहीं थी लेकिन फिर भी एक पिता ने अपने बेटे को चिकित्सक बनाने का सपना देखा और इस सपने को पूरा करने में बेटा जुट गया। आज उस पिता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब उसके बेटे ने सुविधाओं का अभाव होने के बावजूद नीट की परीक्षा को पास किया है। परीक्षा पास करने पर पिता और उसके पड़ोसियों ने बेटे राज सागर का जोरदार स्वागत किया।

राज सागर के पिता ऑटो चालक हैं। घर की माली हालत भी ठीक नहीं है फिर भी उनके पिता ने अपने बेटे को एक अच्छा डॉक्टर बनाने का सपना देखा जो कि मेडिकल प्रवेश परीक्षा ने 8509वीं रैंक हासिल कर पूरा कर दिखाया है। शुक्रवार को राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (NEET) के परिणाम आये। इस परीक्षा में पहली बार 2 विद्यार्थियों के 100% अंक प्राप्त करने का कीर्तिमान इस साल बना है। यह ऐतिहासिक उपलब्धि उड़ीसा के निवासी सोयाब आफताब व कुशीनगर की आकांक्षा सिंह ने समान रूप से हासिल की है।

राज सागर के पिता ने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में एक गरीब व्यक्ति के लिए दवा लेना और अच्छे डॉक्टर को दिखाना संभव नहीं है। उनके सामने भी कुछ ऐसी ही परिस्थितियां आई थी जिसके बाद उन्होंने अपने बेटे को एक अच्छा चिकित्सक बनाने की ठान ली। पुत्र को भी अपने इस सपने से रूबरू कराया जिससे बेटा एक अच्छा चिकित्सक बनकर हर गरीब मरीज की सेवा कर सके और पैसों के अभाव में किसी गरीब व्यक्ति की मृत्यु न हो।

राज सागर ने बताया कि पिताजी ने मुझे पढ़ाने के लिए बहुत मेहनत की है। पिताजी ऑटो चालक होने के बावजूद मुझे किसी भी चीज की कमी महसूस नहीं होने देते थे जिससे वह बेरोकटोक अपनी पढ़ाई को अंजाम दे सके। पिता का सपना मुझे चिकित्सक बनाने का था। इसलिए उन्हीं की तरह मैंने भी दिन रात मेहनत की, इस दौरान कुछ दिक्कतों का भी सामना जरूर करना पड़ा लेकिन पिता का सपना उन दिक्कतों से बड़ा था। इसीलिए पिता और पूरे परिवार को देख सारी दिक्कत दूर हो जाती और आज नीट की परीक्षा में उन्होंने बेहतर रेंक प्राप्त की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *