आगरा: आधी आबादी को समर्पित नवरात्र के पहले दिन ‘नारी एक रूप अनेक’ मिशन का हुआ शुभारंभ

Local News

आगरा। संजय प्लेस स्थित विकास भवन पर शानिवार सुबह मिशन शक्ति ‘नारी एक, रूप अनेक’ के तहत नारी सुरक्षा, नारी सम्मान और स्वावलंबन को लेकर 1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्पलाइन, 108 एंबुलेंस सेवा, 1076 मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1098 चाइल्ड लाइन और 102 स्वास्थ्य सेवा आदि वाहनों को सांसद एसपी से बघेल, विधायक रामप्रताप सिंह चौहान, विधायक हेमलता दिवाकर, डीएम प्रभु एन सिंह, सीडीओ जे रीभा, नगरायुक्त निखिल टीकाराम और एसएसपी बबलू कुमार ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं स्वावलंबन के संदर्भ में एक व्यापक योजना बनाई गई है। इसके अंतर्गत शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र के मध्य यानी 17 अक्टूबर 2020 से 2021 तक कुल 180 दिनों हेतु ‘मिशन शक्ति’ अभियान संचालित किया जाएगा। इस अभियान का उद्देश्य महिलाओं तथा बालिकाओं को स्वावलंबी बनाना, उनमें सुरक्षित परिवेश की अनुभूति कराना, जन जागरूकता पैदा करना, आत्म कला विकसित करने हेतु महिलाओं व बच्चों को प्रशिक्षित करना तथा उनके प्रति हिंसा करने वाले लोगों की पहचान उजागर करना होगा।

मिशन के अंतर्गत जनपद आगरा समेत प्रदेश के समस्त 24 करोड़ जनसामान्य तक पहुंचकर उन्हें महिलाओं तथा बच्चों से संबंधित मुद्दों पर जागरूक किए जाने का लक्ष्य प्राप्त किया जाएगा। इस मिशन को सांकेतिक रूप में आयोजित न करके सतत विकास के रूप में आगामी 180 दिवसों तक संचालित किया जाएगा। मिशन के दौरान विभिन्न विभाग अपनी-अपनी पृथक कार्य योजना के अनुसार मिशन का संचालन करेंगे तथा सभी विभागों के साथ समन्वय स्थापित करेंगे।

मुख्य विकास अधिकारी करेंगे निर्देशन

जनपद आगरा में मिशन शक्ति के क्रियान्वयन हेतु जे रीभा मुख्य विकास अधिकारी आगरा एवं पूनम कमांडेड पंद्रह वी पीएससी को शासन द्वारा नामित किया गया है।

ये सभी विभाग रहेंगे सम्मिलित –

मिशन के क्रियान्वयन में बेसिक शिक्षा विभाग, माध्यमिक शिक्षा विभाग, उच्च शिक्षा एवं प्राविधिक विभाग, महिला कल्याण एवं बाल विकास पुष्टाहार, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, युवा कल्याण विभाग, लघु एवं मध्यम उधम विभाग, कृषि विभाग, औद्योगिक विभाग, ग्राम विकास एवं पंचायती राज विभाग, समाज कल्याण विभाग आदि मुख्य रूप से सम्मिलित होंगे।

ये है कार्यक्रम के मुख्य चरण –

योजना को निम्नलिखित चरणों व विषयों के अनुसार क्रियान्वयन किया जाएगा, जैसे महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा सम्मान तथा स्वावलंबन, बाल महिला अधिकार तथा मानसिक स्वास्थ्य व मनोसामाजिक परामर्श, महिलाओं का बच्चों की तस्करी तथा बलपूर्वक भिक्षावृत्ति, बाल श्रम, कन्या भ्रूण हत्या, यौन अपराध, किशोरावस्था में किशोर किशोरियों को समर्थन, घरेलू हिंसा तथा सुरक्षित यात्रा, बाल विवाह आदि।

प्रथम चरण के विशेष अभियान का समापन चालान 25 अक्टूबर को होगा। किंतु इसके उपरांत भी उक्त विशेष अभियान अनवरत जारी रहेगा, इसका समापन माह अप्रैल 2021 बासंतिक नवरात्र में होगा।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.