आगरा: अवैध खनन से रोकने पर माफियाओं ने सिपाही के ऊपर चढ़ाया ट्रैक्टर, इलाज़ के दौरान हुई मौत

Regional

आगरा। अवैध खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि अवैध खनन रोकने पर सिपाही के ऊपर खनन माफियाओं ने ट्रैक्टर चढ़ा दिया। जहां इलाज के दौरान सिपाही की मौत हो गई। इस घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसपी सिटी रोहन पी बोत्रे आगरा तत्काल घटनास्थल पहुंचे। अवैध खनन को रोकने में सिपाही को मौत के घाट उतारने खनन माफिया वाला ट्रैक्टर सहित फरार हो चुका है।

घटनाक्रम खेरागढ़ थाना क्षेत्र के सोन गांव का है। बताया जा रहा है कि खेरागढ़ थाना क्षेत्र के सोन गांव में बीती रात सोनू चौधरी नाम का सिपाही अवैध खनन को रोकने के लिए चेकिंग कर रहा था। तभी रविवार सुबह करीब 4:00 बजे अवैध खनन करा रहे ट्रेक्टर चालक ने सिपाही सोनू चौधरी पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया। जहां उसे इलाज के लिए गंभीर अवस्था में पुष्पांजलि अस्पताल लाया गया और चिकित्सकों ने सिपाही सोनू चौधरी को मृत घोषित कर दिया।

मृतक सिपाही जनपद अलीगढ़ के टप्पल का मूल निवासी था। बताया जा रहा है कि मृतक सिपाही सोनू चौधरी 2018 बेच का सिपाही था जिसकी पोस्टिंग आगरा के खेरागढ़ थाना क्षेत्र में थी। इस घटनाक्रम के बाद एसपी सिटी आगरा रोहन पी बोत्रे ने सिपाही को मौत के घाट उतारने वाले अवैध खनन माफियाओं को चिन्हित करने के लिए इलाकाई पुलिस को दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

हाल ही में हुई थी शादी

मामले में आज पूरे जिले का कार्यभार संभाल रहे एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने कहा कि यह एक दिल झकझोर देने वाली घटना है। पुलिस की कई टीमें आरोपियों की तलाश में जुट गई हैं। आरोपी की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी। बताया जा रहा है कि साल 2018 बैच के सोनू चौधरी मूल रूप से अलीगढ़ के तहसील खैर के थाना टप्पल के रहने वाले थे। इनकी अभी कुछ समय पहले ही शादी हुई थी। इनके भाई सेना में हैं और पिता की भी अभी कुछ समय पहले आकस्मिक मृत्यु हो चुकी है।

इस घटनाक्रम के बाद इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और सिपाही को मौत के घाट उतारने वाले खनन माफिया के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर तत्काल प्रभाव से जेल भेजने के दिशा निर्देश पुलिस अधिकारियों ने जारी किए हैं। अब देखना होगा कि अवैध खनन रोकने में लगे सिपाही को मौत के घाट उतारने वाले खनन माफिया को कब तक सलाखों के पीछे पहुंच पाते हैं।

up18news

Leave a Reply

Your email address will not be published.