टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को 203 रन से हराया, 1-0 की बढ़त

Updated 06 Oct 2019

विशाखापत्तनम। विशाखापत्तनम में खेले गए 3 टेस्ट मैच की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को 203 रन से शिकस्त देकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। दूसरी पारी में साउथ अफ्रीका की टीम के सर्वाधिक विकेट मोहम्मद शमी (5/35) और रवींद्र जडेजा (4/87) ने अपने नाम किए। मैच के 5वें और अंतिम दिन टीम इंडिया को जीत के लिए 9 विकेट की दरकार थी। शानदार रिदम में उतरी टीम इंडिया ने दिन के पहले दो सत्रों तक ही जीत अपने नाम कर ली। दिन के पहले ही सत्र में मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा के घातक स्पेल ने अफ्रीकी टीम के एक के बाद 7 बल्लेबाजों को पविलियन भेजा जबकि अंतिम दो विकेट झटकने के लिए भारत ने दूसरे सत्र में 22 ओवर और गेंदबाजी कर यह मैच अपने नाम कर लिया। इस मैच में 8 विकेट झटकने वाले रविचंद्रन अश्विन ने सबसे तेज 350 विकेट लेने के वर्ल्ड रेकॉर्ड की बराबरी भी की।
इससे पहले शनिवार को भारत ने अपनी दूसरी पारी में रोहित शर्मा (127) के उम्दा शतक की बदौलत 323/4 के स्कोर पर घोषित की थी जबकि पहली पारी में उसे 71 रन की लीड मिली थी। इस तरह अफ्रीकी टीम के सामने यहां जीत के लिए 395 रन का लक्ष्य था। इस टारगेट के जवाब में उतरी अफ्रीकी टीम ने शनिवार चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 11 रन पर अपना एक विकेट गंवा दिया था। यहां से आगे खेल का शुरू करने आई अफ्रीकी टीम के लिए रविवार को कुछ भी उसके पक्ष में होता नहीं दिखा।
अश्विन ने की वर्ल्ड रेकॉर्ड की बराबरी
आते ही दिन के दूसरे ओवर में रविचंद्रन अश्विन ने थेयुनिस डे ब्रूयन को बोल्ड कर उनके अरमानों पर पानी फेरना शुरू किया। यह अश्विन का इस टेस्ट मैच मैं 8वां विकेट था और अपने करियर का 66वां टेस्ट खेल रहे इस ऑफ स्पिनर ने सबसे तेज 350 विकेट के वर्ल्ड रेकॉर्ड की भी बराबरी कर ली। अब अश्विन सबसे तेज 350 टेस्ट विकेट लेने के मामले में श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के साथ संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं।
शमी ने लगाई बोल्ड की झड़ी
इस टेस्ट मैच में मोहम्मद शमी के हाथ चौथे दिन तक कोई सफलता नहीं लगी थी लेकिन मैच के 5वें दिन उन्होंने उनकी सटीक लाइन-लेंथ का इनाम मिला और उन्होंने एक के बाद एक अफ्रीकी टीम के चार बल्लेबाजों को बोल्ड कर दिया। शमी ने सबसे पहले तेंबा बवूमा (0) को नीची रहती एक गेंद पर चारों खाने चित किया। इसके बाद कप्तान फाफ डु प्लेसिस (13) लड़खड़ाई पारी को सहारा देने का प्रयास कर रहे थे कि शमी ने डु प्लेसिस की भी गिल्लियां बिखेर दीं। एक लंच ब्रेक के बाद उन्होंने पारी का 9वां विकेट भी डेन पीट को बोल्ड कर अपने नाम किया।
टूटी अफ्रीकी टीम की कमर
डु प्लेसिस के बाद अपने अगले ओवर में शमी ने पिछली पारी में शानदार शतक जड़ने वाले क्विंटन डि कॉक को इस बार खाता भी खोलने का मौका नहीं दिया और उन्हें बोल्ड कर मैच में तीसरी सफलता अपने नाम की। इस तरह उन्होंने मेहमान टीम की कमर ही तोड़कर रख दी। अफ्रीकी टीम को यह 5वां झटका था।
अपनी फिरकी के जादू से जड्डू ने तोड़ी मेहमानों की आस
टीम इंडिया इस मैच में अपनी रणनीतियों पर खरी उतर रही थी। अब कप्तान विराट कोहली ने गेंद रवींद्र जडेजा को सौंप दी। शनिवार को भारत को डीन एल्गर (2) के रूप में पहली सफलता दिलाने वाले जड्डू ने यहां भी निराश नहीं किया। उन्होंने आते ही एडिन मार्करम (39) को अपनी ही गेंद पर कैच कर पविलियन भेजा। इसके बाद इसी ओवर में वर्नोन फिलैंडर (0) और केशव महाराज (0) को भी LBW आउट कर पविलियन की राह दिखा दी। इसी ओवर में जडेजा हैटट्रिक चांस पर भी थे लेकिन उनकी हैटट्रिक बॉल पर बल्लेबाजी पर आए डेन पीट गेंद को बखूबी संभाल गए।
मुथुसामी और डेन पीट ने दिखाया जज्बा
दूसरी पारी में अफ्रीकी टीम के लिए कुछ भी सही होता नहीं दिख रहा था। लेकिन 9वें विकेट के लिए सेनुरान मुथुसामी और डेन पीट ने भारतीय बोलिंग से अंत तक लड़ने का अपना जज्बा दिखाया। दोनों ने 91 रन की साझेदारी कर टीम इंडिया की जीत का संघर्ष अगले 32 ओवरों तक बढ़ा दिया। इस बीच डेन पीट (56) ने अपने टेस्ट करियर की पहली फिफ्टी भी जड़ दी। पीट को मोहम्मद शमी ने बोल्ड कर पविलियन की राह दिखाई।
ऐसा रहा मैच का लेखा-जोखा
इससे पहले टीम इंडिया ने इस टेस्ट मैच की शुरुआत में टॉस जीतकर पहले बैटिंग की थी। भारत ने अपनी ओपनिंग जोड़ी मयंक अंग्रवाल (215) और रोहित शर्मा (176) के शानदार खेल की बदौलत अपनी पहली पारी 520/7 के स्कोर पर घोषित की थी। इसके बाद टीम इंडिया ने मेहमान टीम की पारी 431 रन पर समेट दी थी और पहली पारी के आधार पर 71 रन की बढ़त हासिल की थी। पहली पारी में भी मेहमान टीम लड़खड़ा गई थी लेकिन तब डीन एल्गर (160), क्विंटन डि कॉक (111) की शतकीय पारी और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (55) की फिफ्टी के दम पर वह सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच गई थी। अफ्रीकी टीम की पहली पारी में स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 7/145 विकेट अपने नाम किए थे।
दूसरी पारी में रोहित संग चमके पुजारा
भारत ने दूसरी पारी में भी शानदार खेल दिखाया और इस बार रोहित शर्मा (127) ने फिर शतकीय पारी खेली। रोहित के अलावा यहां चेतेश्वर पुजारा ने भी शानदार 81 रन की पारी खेली। भारत ने अपनी दूसरी पारी 323/4 पर घोषित कर साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 395 रन का टारगेट दिया था। अफ्रीकी टीम को अपनी पहली ही पारी जैसे खेल की उम्मीद थी लेकिन भारतीय गेंदबाजों को संयुक्त खेल के आगे उनकी एक न चली। सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच गुरुवार से पुणे में शुरू होगा।
-एजेंसियां



Free website hit counter