अब पत्रकार पर भड़कीं कंगना: कहा, तुम तो हमारे दुश्मन बन गए यार

Updated 08 Jul 2019

मुंबई। बॉलिवुड की ‘क्वीन’ कंगना रनौत का फिलहाल विवादों से नाता टूटता नहीं दिख रहा है। कंगना और उनकी रंगोली चंदेल आए दिन बॉलिवुड के कलाकारों, निर्माताओं और निर्देशकों के खिलाफ जमकर भड़ास निकालती रहती हैं।
अब कंगना के निशाने पर पत्रकार भी आ गए हैं। ‘जजमेंटल है क्या’ के एक रीमिक्स प्रमोशनल सॉन्ग को लॉन्च करने के इवेंट में कंगना ने एक पत्रकार को जमकर खरी-खोटी सुनाई। कंगना का आरोप था कि पत्रकार ने उनकी फिल्म मणिकर्णिका के बारे में निगेटिव बातें लिखी थीं। हालांकि, पत्रकार कंगना के आरोपों को नकराता रहा लेकिन बॉलिवुड ऐक्ट्रेस ने उसकी एक न सुनी।
इन दिनों कंगना रनौत अपनी रिलीज़ के लिए तैयार फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ को लेकर खबरों में हैं। अब तक फिल्म को लेकर कोई खास विवाद तो नहीं हुआ है, शायद इसलिए अपनी फिल्म के एक गाने के लॉन्च पर पहुंची कंगना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक रिपोर्टर से जमकर झगड़ीं।
दरअसल एकता कपूर, कंगना रनौत और राजकुमार राव अपनी फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ के एक रीमिक्स प्रमोशनल सॉन्ग को लॉन्च करने पहुंचे थे।
लेकिन कंगना से जब एक पत्रकार ने सवाल करने के लिए अपना नाम बताया तो मैडम को पत्रकार द्वारा लिखी एक ऐसी खबर याद आ गई, जो फिल्म ‘मणिकर्णिका’ के दौरान कंगना के खिलाफ लिखी थी। कंगना ने आव देखा न ताव रिपोर्टर पर बरस पड़ीं। कंगना ने भरे प्रेस कॉन्फ्रेंस में रिपोर्टर की बेइज्जती करनी शुरू कर दी।
कंगना और पत्रकार के बीच जमकर बहस हुई। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जमकर हंगामा शुरू हो गया। सवाल-जवाब के सेशन के दौरान जैसे ही पत्रकार जस्टिन राव ने सवाल किया तो कंगना ने पत्रकार के सवाल को सुनने की बजाय, उन पर तरह-तरह के इल्जाम लगाने शुरू कर दिए। कंगना ने पत्रकार पर आरोप मढ़ दिया कि उन्होंने उनकी फिल्म ‘मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी’ के खिलाफ दुर्भावना से ग्रस्त होकर काफी कुछ खिलाफ लिखा है, साथ ही उनके खिलाफ अनाप-शनाप बातें ट्वीट की हैं।
तमाम मीडिया की मौजूदगी में जब कंगना ने पत्रकार पर आरोप लगाने शुरू किए तो पत्रकार जस्टिन राव ने कहा कि वह उन पर इस तरह से आरोप नहीं लगा सकती हैं। पत्रकार ने कहा कि वह जो भी लिखते हैं, सच लिखते हैं। कंगना के आरोपों पर पत्रकार जस्टिन ने कहा कि उन्होंने‌ कभी उनके खिलाफ इस तरह की बातें नहीं लिखी हैं।
पत्रकार की बार-बार सफाई देने के बावजूद कंगना चुप नहीं हुईं और लगातार उन पर हमला बोलती रहीं। पत्रकार ने फिल्म और उनके खिलाफ घटिया बातें लिखने‌ के आरोपों से भी साफ इंकार किया। कंगना ने यह भी कहा कि पत्रकार ने ‘मणिकर्णिका’ से संबंधित एक इंटरव्यू के दौरान उनकी वैनिटी वैन में तीन घंटे बिताए थे और उनके साथ लंच भी किया था।
कंगना का आरोप है कि इसके बावजूद उनके और उनकी फिल्म ‘मणिकर्णिका’ के खिलाफ घटिया बातें लिखीं गईं। पत्रकार ने बड़ी समझदारी और सम्मान के साथ बार-बार दोहराया कि न तो उन्होंने उनके साथ कभी लंच किया और न ही वैनिटी वैन में उनके साथ तीन घंटे बिताए हैं मगर कंगना बिल्कुल भी कुछ भी सुनने के मूड में नहीं थीं। वह पत्रकार पर आरोप लगाने लगीं कि पत्रकार जस्टिन उनको मेसेज भी करता था। पत्रकार ने उन्हें उनके लिखे ट्वीट्स और भेजे गए मेसेज के स्क्रीन शॉट्स दिखाने का आग्रह किया तो कंगना ने कहा कि वह बाद में इसे जरूर शेयर करेंगी। कंगना ने पत्रकार पर उनके खिलाफ ‘घटिया सोच’ रखने का आरोप भी लगाया।
दोनों के बीच हो रही इस बातचीत के बीच जब होस्ट ने बीच में पत्रकार को चुप कराने की कोशिश की तो वहां मौजूद एक दूसरे पत्रकार ने होस्ट को पत्रकार का मुंह बंद करने की कोशिश (अपनी बात कहने से रोकने ) के लिए झाड़ दिया और उन्हें दोनों के बीच में नहीं बोलने की सलाह दी। यह तमाम चीजें नवभारतटाइम्स डॉट कॉम के कैमरे में कैद भी हुईं।
इस मौके पर फिल्म की प्रोड्यूसर एकता कपूर, फिल्म के हीरो राजकुमार राव, लेखिका कनिका ढील्लन और फिल्म के निर्देशक प्रकाश कोवलामुडी भी मंच पर मौजूद थे। विवाद को बढ़ता देख एकता कपूर ने बीच-बचाव करने और मामले को शांत करने की कोशिश की।
कुछ इस तरह हुई कंगना रनौत और पत्रकार के बीच बहस 
कंगना और राजकुमार को संबोधित करते हुए पत्रकार ने अपना नाम बताया… ( पत्रकार का नाम सुनते ही कंगना ने माइक अपने हाथ में लिया और बिना सवाल सुने तपाक से बोलने लगीं ) 
कंगना – ( पत्रकार का नाम लेते हुए ) तुम तो हमारे दुश्मन बन गए यार, मेरे खिलाफ बड़ी घटिया बातें लिख रहे हो? 
पत्रकार – क्या सचमुच ऐसा है… 
कंगना – हां… 
पत्रकार – मैं तो सच लिखता हूं… 
कंगना – कितनी ज्यादा गंदी बातें लिख रहे हो तुम, इतना गंदा सोचते कैसे हो? 
पत्रकार – कंगना, आपका इस तरह मुझपर आरोप लगाना सही नहीं है। 
कंगना – लेकिन क्या यह तुम सही कर रहे हो, जो मेरे खिलाफ घटिया बातें लिख रहे हो? 
पत्रकार – जैसे, मैंने क्या लिखा है, जिसे आप घटिया और बुरा बता रही हैं? 
कंगना – ( कंगना ने चुप्पी साध ली, एकदम खामोश, शायद उनकी लाइनें खत्म हो चुकी थीं ) 
पत्रकार – कंगना, मैं सच में पूछ रहा हूं, आपको कौन सी लिखी न्यूज़ से ऐतराज है। आप जवाब दीजिए, बताइए कि मैंने क्या लिखा है? मेरे लिए यह बहुत मायने रखता है। यह ठीक नहीं है, आप मंच पर बैठकर मुझपर आरोप लगा रही हैं। 
कंगना – आप मेरी पिछली रिलीज़ फिल्म मणिकर्णिका ने बारे में नकारात्मक खबरें लिख रहे थे। क्या मैंने कोई गलती कर दी है फिल्म मणिकर्णिका बना कर, जो आप मेरे बारे में कट्टर देशभक्त लिखते हैं। एक महिला जो देशप्रेम पर फिल्म बना रही है, क्या यह गलत काम है, क्या यह मेरी गलती है? 
पत्रकार – मैंने फिल्म मणिकर्णिका को लेकर कुछ भी ट्वीट नहीं किया है। क्योंकि आप आज पावरफुल पोजीशन पर हैं, आप किसी पत्रकार को डरा-धमका नहीं सकती हैं। 
इस बीच कार्यक्रम को संचालित करने के लिए मौजूद होस्ट को लगा कि कंगना कमजोर पड़ रही हैं, उनके पास जवाब नहीं है और वह अपनी समझदारी दिखाने के लिए बीच में आ गए और पत्रकार को चुप कराने लगे। संचालक द्वारा पत्रकार को चुप कराने की कोशिश दबावपूर्ण होने की वजह से, वहां मौजूद एक दूसरे पत्रकार ने संचालक को पत्रकार की बेइज्जती कर रिपोर्टर का मुंह बंद करने की कोशिश में जमकर लताड़ा। 
कंगना और पत्रकार के बीच फिर से बातचीत शुरू हुई।
कंगना – मेरी किसी भी बात के मतलब से यह न समझें कि मैं डरा-धमका रही हूं। मैं यहां बहुत ही सामान्य ढंग से बात कर रही हूं, जैसे सभी लोग एक-दूसरे से बात कर रहे हैं। ( कंगना ने पत्रकार को संबोधित करते हुए आगे कहा ) आप मेरे वैनिटी वैन में आए थे, हमने साथ में लंच किया था, हम साथ बैठे थे, आपने इंटरव्यू किया था। आपने करीब 3 घंटे मेरे वैन में बिताए थे, इस तरह आप मेरे दोस्त हुए और मैं उसी दोस्ती के अंदाज में आपसे शिकायत कर रही हूं। आज चीजें अचानक बदल गई हैं, इसलिए मैं कह रही हूं। आप यह कहने की कोशिश न करें कि मैं यहां आपको धमकाने की कोशिश कर रही हूं। तुमने पर्सनली मुझे मेसेज किया, आप मेरे वैन में आए, मैं यहां स्टार की तरह नहीं, बल्कि दोस्त की तरह बात कर रही हूं। 
पत्रकार – कंगना आपकी इन बातों में कोई भी सच्चाई नहीं है, न तो मैंने आपके साथ लंच किया और न ही मैंने आपकी वैन में 3 घंटे का समय लेकर इंटरव्यू किया है। मैंने आपकी वैन में इंटरव्यू जरूर किया था, वह इंटरव्यू आपकी पीआर टीम के कहने पर किया था, मेरा इंटरव्यू आपके साथ मात्र 30 मिनट का था, हमने साथ में लंच नहीं किया था। मैंने आपको कभी भी कोई मेसेज नहीं किया। मैं अपना काम करता हूं बस। 
कंगना – आपने मुझे मेसेज किया था। 
पत्रकार – कंगना मैंने कभी भी आपको कोई मेसेज नहीं किया। कंगना आप चाहें तो यहां मेरे मेसेज का स्क्रीन शॉट दिखा सकती हैं। 
कंगना – जी हां, मैं मेसेज का स्क्रीन शॉट दिखाऊंगी, लेकिन आज मैं यहां स्क्रीन शॉट दिखाने नहीं आई हूं। मैंने जो भी कहा था, आपने उस बात को ट्विस्ट कर दिया, इसलिए मैं यह बात कह रही हूं। आपने अपनी नेगेटिव खबर से मेरे ब्रैंड को नुकसान पहुंचाया है। मैं यही कहना चाहती थी, लेकिन आप स्टार पावर और जर्नलिस्ट की बात बीच में ले आए। 
पत्रकार – कंगना, यह बात आपने क्यों कही कि तुम्हारी सोच गंदी है, क्या इसका कोई प्रूफ है? 
कंगना – ( कंगना ने चुप्पी साध ली ) मैं आपके किसी भी सवाल का जवाब नहीं दूंगी क्योंकि आप मेरे खिलाफ नेगेटिव स्टोरी का कैम्पेन चलाते हैं। 
पत्रकार – कंगना, मैंने कभी आपके खिलाफ कोई भी कैम्पेन नहीं चलाया है। आपकी यह बात पूरी तरह बेतुकी और हास्यपूर्ण है। आप मुझे सबूत दिखाएं कि मैंने क्या किया है। 
कंगना – सब जानते हैं आपने मेरे खिलाफ नेगेटिव खबरें लिखने का कैम्पेन चलाया है। 
पत्रकार – आप झूठ बोल रही हैं, मैंने कभी भी कोई कैम्पेन नहीं चलाया। 
कंगना – आपसे मैं बात नहीं करूंगी, किसी सवाल का कोई जवाब भी नहीं दूंगी। आप मुझे किसी सवाल का जवाब देने के लिए फोर्स नहीं कर सकते हैं। 
-एजेंसियां




Free website hit counter