ऐक्टिंग के बजाए शादी करना चाहती थीं कृति खरबंदा

Updated 13 Aug 2019

मुंबई। विक्रम भट्ट की फिल्म राज रीबूट से बॉलिवुड में डेब्यू करने वाली एक्‍ट्रेस कृति खरबंदा का कहना है कि वह कभी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थीं। ऐक्टिंग के बजाए वह शादी करना और बच्चे पैदा करना चाहती थीं।
‘शादी में जरूर आना’ से खास पहचान बनाने वाली कृति खरबंदा इन दिनों काफी बिजी चल रही हैं। वह अपनी आगामी फिल्मों हाउसफुल 4, पागलपंती, चेहरे और तमिल फिल्म ‘वान’ की शूटिंग में व्यस्त हैं। फिल्म ”चेहरे” में कृति बॉलिवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन के साथ पहली बार सिल्वर स्क्रीन पर नजर आएंगी। इस फिल्म में अमिताभ और कृति के अलावा इमरान हाशमी भी दिखेंगे।
कृति ने बताया, ‘मैं कभी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थी। एक्टिंग के बजाए मैं शादी करना चाहती थी और बच्चे पैदा करना चाहती थी।’ कृति की दूसरी हिंदी फिल्म ‘गेस्ट इन लंदन’ के प्रमोशन के दौरान जब उसने शादी के बारे में पूछा गया, तब उन्होंने कहा था कि उनकी शादी को लेकर सवाल करने मेहमान पसंद नहीं हैं। ऐसे मेहमानों को वह घर से चलता कर देना ही ठीक समझती हैं।
एक सवाल का जवाब देते हुए कृति ने कहा, ‘बात बॉलिवुड या दक्षिण की फिल्मों में काम करने की हो, मैं फिल्मों का चयन भाषा के आधार पर नहीं करती। जब मैंने वहां काम करना शुरू किया तो दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग को बॉलिवुड में कदम रखने की सीढ़ी के रूप में नहीं देखा। यहां तक कि आज भी मैं जब किसी तमिल फिल्म में या एक मल्टीस्टारर बॉलिवुड फिल्म में एक्टिंग करती हूं तो दोनों में कोई अंतर नहीं देखती।’
कृति इससे पहले गेस्ट इन लंदन, शादी में जरूर आना, कारवां और यमला पगला दीवाना फिर से जैसी फिल्मों में नजर आई थीं। उन्होंने दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग में गूगली, सुपर रंगा, ब्रुस ली: द फाइटर जैसी फिल्मों से लोकप्रियता हासिल की। फिल्मों के अलावा वह अपने स्टाइल स्टेटमेंट के कारण मैगजीन कवर्स का पसंदीदा चेहरा हैं।
-एजेंसियां



Free website hit counter