आगरा: श्रीमद्भागवत कथा से पूर्व निकाली गई मंगल कलश यात्रा

Updated 10 Sep 2019

भागवत कथा का आयोजन महाराजा अग्रसेन सेवा सदन कमला नगर द्वारा कराया जा रहा है जो कि सोलह सितंबर तक दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक चलेगी। कथा के मुख्य यजमान अतुल बंसल एंव आस्था बंसल है।
 
भागवत कथा के प्रथम दिन
कथा के प्रथम दिन कथावाचक व्यासपीठासीन साध्वी माँ ध्यान मूर्ति जी के मुखारविंद से कथा स्थल पर श्रीमद भागवत महात्म्य कथा एवं श्री शुकदेव आगमन तथा विदुर कथा से वातावरण भक्ति मे सराबोर हो गया। उन्होंने श्रीमद् भागवत कथा का संक्षेप में श्रोताओं को सार बताते हुए कहा कि मनुष्य के जन्म जन्मांतर के पुण्यों का उदय होने पर ही श्रीमद् भागवत जैसी भगवान की दिव्य कथा श्रवण का सौभाग्य मिलता है। भागवत रूपी गंगा की धारा पवित्र और निर्मल है जो पापियों को भी तार देती है। मिडिया प्रभारी विमल कुमार ने बताया कि आज कपिलोपाख्यान एवं ध्रुव- चरित्रादि का वर्णन किया जाएगा।
 
भागवत कथा के कार्यक्रम 
10 सितम्बर को कपिल उपाख्यान, ध्रुव कथा, 11 सितम्बर को अजामिल उपाख्यान, भक्त प्रहलाद पर भगवान की कृपा, वामन कथा, 12 सितम्बर को श्रीराम कथा, श्रीकृष्ण जन्म, नंदोत्सव, 13 सितम्बर को कृष्ण की बाललीला, मटकी फोड़ एवं गोवर्धन पूजा, 14 सितम्बर को महारास, कंसवध, रुक्मिणी-कृष्ण विवाह व 15 सितम्बर को सुदामा चरित, श्री शुकदेव पूजन, परीक्षित मोक्ष तथा 16 सितम्बर को पूर्ण आहुति के साथ भागवत कथा का समापन होगा।
 
 
ये रहे मौजूद 
इस अवसर पर प्रमुख रूप से डॉ० अनिल गोयल, दिनेश अग्रवाल, ओमकार नाथ गोयल, राजेश अग्रवाल, प्रमोद अग्रवाल, जेपी अग्रवाल, सुभाष अग्रवाल, संजय अग्रवाल, मनीष गोयल, कन्हैया लाल अग्रवाल, विष्णु भगवान गोयल, नरेंद्र बंसल, डॉ० अशोक गर्ग आदि मौजूद रहे |




Free website hit counter