फिरोजाबाद: दुष्कर्म पीड़िता के पिता की हत्या करने वाले हत्यारोपी पुलिस मुठभेड़ में गिरफ़्तार

Updated 13 Feb 2020

फिरोजाबाद। पिछले दिनों दुष्कर्म पीड़िता के पिता की गोली मारकर हत्या करने वाले मुख्य आरोपी आचमन उपाध्याय उर्फ छोटू की धरपकड़ में जुटी पुलिस की देर रात हत्यारों के साथ मुठभेड़ हो गयी। बैंदी की पुलिया के पास अपने आप को घिरता देख आरोपी आचमन उपाध्याय और उसके साथी ने पुलिस पर फायर कर दिये तो पुलिस को भी जवाबी कार्यवाही करनी पड़ी। फायरिंग में आरोपी आचमन व उसके साथी के पैर में गोली लगी और दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने उन्हें ईलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

पुलिस को सूचना मिली कि दुष्कर्म व हत्या का आरोपी आचमन उपाध्याय बैंदी की पुलिया के पास अपने साथी के साथ ही और भागने की फिराक में है। इस सूचना पर पुलिस ने बैंदी की पुलिया के पास घेरावन्दी की। आरोपी आचमन उपाध्याय को देखकर पुलिस ने उसे पकड़ने का प्रयास किया तो अपने आप को घिरता देख उसने फायरिंग कर दी। पुलिस ने भी मोर्चा संभाला और मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ के दौरान भागते समय थाना उत्तर प्रभारी नीरज मिश्रा और एसओजी का सिपाही भगत सिंह भी गिरकर घायल हो गए। मुठभेड़ में पकड़े आचमन और उसके साथी गोविंद पुत्र राजनारायण के पैर भी गोली लगी है। मौके पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिंद्र पटेल भी पहुंच गए।

इधर, पीड़िता के घर के ही बाहर सुरक्षा के लिहाज से पुलिस बल तैनात रहा। बता दें कि थाना उत्तर क्षेत्र में सोमवार शाम को दुष्कर्म पीड़िता के पिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद परिजनों का पुलिस के प्रति गुस्सा फूट पड़ा था।

पीड़ित परिवार का कहना था कि छह माह से पुलिस ने हत्यारोपी को नहीं पकड़ा, बल्कि उसे संरक्षण दे रही थी। बुधवार को पीड़ित परिवार के घर ढांढस बंधाने के लिए आने वाले आते रहे। गली के बाहर पुलिस बल मुस्तैद रहा। दुष्कर्म पीड़िता के चाचा ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था।

एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने कहा कि हत्यारोपी आचमन उपाध्याय उर्फ छोटू को पुलिस टीम ने बुधवार देर रात मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी फायरिंग में दोनों आरोपी पैर में गोली लगने से घायल हो गए, साथ ही दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।




Free website hit counter