आगरा: ट्रांसपोर्ट कंपनी पर ड्रग विभाग की टीम ने छापा मारा, 60 लाख के खांसी के सीरप, 20 लाख की दवाएं जब्त

Updated 10 Jul 2019

आगरा में एक बडी ट्रांसपोर्ट कंपनी पर ड्रग विभाग की टीम ने छापा मारा, 60 लाख के खांसी के सीरप, 20 लाख की दवाएं और सैंपल की जांच की जा रही है। ये दवाएं हॉकर द्वारा फीरोजाबाद भेजे जा रहे थे। दवाएं और सैंपल जब्त कर लिए हैं। टीम को ट्रांसपोर्ट कंपनी से मिली दवाएं संदिग्ध लग रही हैं, ये सभी वे दवाएं हैं ​जो पिछले दिनों जांच में अद्योमानक मिली थी। इनके सैंपल भी जांच को लिए गए हैं।
 
ड्रग इंस्पेक्टर राजकुमार शर्मा ने बताया कि काफी समय से हॉकर द्वारा मालवा ट्रांसपोर्ट, शाहदरा के माध्यम से अवैध दवा की सप्लाई करने की सूचना मिल रही थी, इस सूचना पर मंगलवार रात को मालवा ट्रांसपोर्ट पर छापा मारा गया। ट्रांसपोर्ट कंपनी का ​मालिक मोहित गोयल मौके पर नहीं मिला। ट्रांसपोर्ट कंपनी से 60 लाख की कीमत के खांसी के सीरप फेंसीडिल मिले हैं, इन सीरप का इस्तेमाल नशे के लिए किया जाता है और ब्लैक में बिकते हैं, हालांकि इन सीरप के ई वे बिल दिखा दिए गए लेकिन इनकी कहां सप्लाई की जा रही थी, इसकी जानकारी मांगी गई है। ट्रांसपोर्ट कंपनी से 20 लाख कीमत की एंटीबायोटिक दवाएं और सैंपल की दवाएं मिली हैं, इसमें से कुछ दवाएं संदिग्ध हैं। इन दवाओं के सैंपल लिए गए हैं। 
हॉकर द्वारा दवाओं का अवैध कारोबार 
पूछताछ में सामने आया है कि हॉकर अरुण और आरके गुप्ता द्वारा इन दवाओं को फीरोजाबाद भेजा जा रहा था, वहां से ये दवाएं कहां सप्लाई की जा रहीं थी, इसकी जांच चल रही है।



Free website hit counter