शामली में पत्रकार की पिटाई करने पर SHO और कांस्टेबल सस्पेंड

Updated 12 Jun 2019

शामली। उत्तर प्रदेश के शामली जिले में पटरी से उतरी मालगाड़ी की कवरेज करने गए एक पत्रकार की पिटाई करने के आरोपी जीआरपी SHO राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार को सस्‍पेंड कर दिया गया है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा है कि आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी।
इन दोनों पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि उन्‍होंने पत्रकार अमित शर्मा के साथ बदसलूकी की और उसके साथ अमानवीय कृत्य किए। इससे पहले बुधवार सुबह पत्रकारों ने आरोपी अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया था।
पीड़‍ित पत्रकार अमित शर्मा ने बताया कि पिटाई करने के बाद पुलिसकर्मियों ने उन्‍हें हिरासत में लिया। हिरासत में उन्‍हें नंगा किया गया और उनके मुंह में पेशाब किया गया। आरोप है कि पुलिसकर्मी सादी वर्दी में थे और उन्होंने घटना स्थल पर ही गाली-गलौज और मारपीट शुरू कर दी। साथ ही मीडियाकर्मियों का माइक भी छीन लिया। पिटाई की घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।
पत्रकार ने आरोप लगाया है कि पुलिस वाले उनसे कैमरा छीनने लगे और कैमरा नीचे गिर गया। वह कैमरा उठाने के लिए झुके तो सादी वर्दी में एक पुलिस वाले ने पिटाई शुरू कर दी और भद्दी गालियां देने लगा। मीडियाकर्मी ने आरोप लगाया है कि पुलिसकर्मी करीब 200 मीटर उन्‍हें पिटाई करते हुए ले गए और उन्हें लॉकअप में बंद कर दिया और फिर मुंह में पेशाब की। पत्रकार शर्मा ने बताया कि रेलवे की एक खबर चलाने के बाद पुलिस वाले उनसे नाराज थे।
बता दें कि यह घटना शामली शहर के धीमानपुरा फाटक के पास की है जहां ट्रैक बदलने के दौरान मालगाड़ी के कुछ डिब्बे पटरी से उतर गए थे। डिब्बे उतरने की वजह से जोर की आवाज भी हुई। शामली-सहारनपुर रेल मार्ग पर इस हादसे की वजह से ट्रैफिक प्रभावित रहा। आरोपी पुलिसकर्मियों को पहले लाइन हाजिर किया गया लेकिन बाद में लखनऊ से निर्देश मिलने पर सस्‍पेंड कर दिया गया।
-एजेंसियां



Free website hit counter