मिर्जापुर: बदमाशों की गोली से घायल दरोगा दुर्ग विजय सिंह की मौत

Updated 09 Jul 2019

मिर्जापुर। बदमाशों की गोली से मुजफ्फरनगर में घायल दरोगा दुर्ग विजय सिंह का मंगलवार सुबह दस बजे इलाज के दौरान निधन हो गया।
वे बीते मंगलवार को जिला कारागार में निरुद्ध शातिर बदमाश रोहित उर्फ सांडू को पेशी पर मुजफ्फरनगर ले गए थे।
पेशी से लौटते समय एक ढाबे के पास रोहित के साथी विजय सिंह पर हमला कर उसे छुड़ा ले गए थे। दरोगा विजय मऊ जिले के रानीपुर थाना क्षेत्र के दतौली गांव के मूल निवासी थे। पहले वे जौनपुर में तैनाथ थे। इसी वर्ष 14 जून को उनका मिर्जापुर स्थानांतरण हुआ था।
ज्ञात हो की पिछले मंगलवार 2 जुलाई को मिर्जापुर पुलिस मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव जोहरा निवासी सुपारी किलर रोहित को मुजफ्फरनगर कोर्ट में पेश करने आई थी। कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस उसे वापस मिर्जापुर ले जा रही थी। पानीपत खटीमा राजमार्ग पर जानसठ कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत गांव सलारपुर के पास एक ढाबे पर दोपहर में खाना खाने के दौरान बदमाशों ने पुलिस पर हमला करके शातिर अपराधी रोहित को पुलिस अभिरक्षा से छुड़ा लिया था।
इस दौरान पेट और कमर में गोलियां लगने से उप निरीक्षक दुर्ग विजय सिंह गंभीर घायल हो गए थे, जिन्हें पहले मेरठ और बाद में दिल्ली रेफर किया गया था। उप निरीक्षक मऊ जनपद के मूल निवासी हैं, जो वर्तमान में मिर्जापुर पुलिस लाइन में तैनात थे।
-एजेंसियां



Free website hit counter