डीएम बुलंदशहर के घर CBI की छापेमारी, नोट गिनने को मंगानी पड़ी मशीन

Updated 10 Jul 2019

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में डीएम आईएएस अभय सिंह के घर पर सीबीआई ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि यह छापेमारी उनके ऊपर लगे खनन घोटाले को लेकर की गई है। पिछली सरकार में अभय सिंह फतेहपुर के डीएम थे, इस दौरान उन पर अवैध रूप से खनन करवाने का आरोप लगा था। इस मामले की सीबीआई जांच कर रही है। सूत्रों की मानें तो छापेमारी के दौरान सीबीआई को उनके आवास पर इतने नोट मिले कि उनकी गिनती के लिए सीबीआई ने मशीन मंगवाई।
 
सीबीआई की टीम सुबह-सुबह डीएम के आवास और कार्यालय पर पहुंची। यहां पर सभी लोगों के आने-जाने पर रोक लगा दी गई। गेट पर फोर्स तैनात कर दी गई। टीम ने लगभग दो घंटे तक आईएएस अभय सिंह के साथ उनके आवास पर बंद करके पूछताछ की। इस दौरान उनके घर की तलाशी की गई। तलाशी के दौरान 47 लाख रुपये कैश बरामद किए गए।
 
घर से कैश बरामद, अधिकारी भी हैरान                                                                                                                                           
 
सूत्रों ने बताया कि तलाशी के दौरान आईएएस के घर से सीबीआई को नोटों की कई गड्डियां मिलीं। इन गड्डियों को गिनवाने के लिए बाद में मशीन मंगवाई गई। लोगों को नोट गिनने वाली मशीन का पता तब चला जब छापेमारी के दौरान एक गाड़ी डीएम के आवास से बाहर गई और कुछ देर बाद वापस लौटी। वापस लौटने के दौरान गाड़ी में लोगों ने नोट गिनने की मशीन देखी। इस बात से अंदाजा लगाया जा रहा है कि आईएएस के घर से काफी नकदी बरामद हुई है।
अभय सिंह समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव सरकार में फतेहपुर के डीएम थे। बताया जा रहा है कि इस दौरान उन्होंने सारे नियमों को ताक पर रखकर मनमाने ढंग से खनन पट्टे किए। हाई कोर्ट की रोक के बावजूद लोगों को अवैध खनन की रेवड़ी बांटी गई। वह मूल रूप से प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। उन्हें लगभग पांच महीने पहले ही बुलंदशहर का डीएम बनाया गया था।
 
आजमगढ़ सीडीओ के यहां से दस लाख बरामद 
बताया जा रहा है कि आमजगढ़ सीडीओ देवी शरण उपाध्याय तत्कालीन देवरिया के एडीएम थे। उनके यहां से दस लाख रुपये कैश और कई अघोषित संपत्तियों के दस्तावेज बरामद हुए हैं।
 
12 ठिकानों पर हुई छापेमारी 
सीबीआई ने अवैध खनन मामले में यूपी के बारह ठिकानों पर छापेमारी की। टीम ने बुलंदशहर के अलावा लखनऊ, फतेहपुर, आजमगढ़, इलाहाबाद, नोएडा, गोरखपुर, देवरिया में छापे मारे। लखनऊ में आईएएस विवेक कुमार के घर पर छापेमारी चल रही है। विवेक कुमार पर देवरिया के डीएम रहते खनन पट्टों में गड़बड़ी का आरोप लगा था। 2009 बैच के आईएएस अधिकारी विवेक अभी कौशल विकास निगम के निदेशक हैं। उनके सुशांत गोल्फ सिटी स्थित आवास पर छापेमारी चल रही है।
मनमाने ढंग से खनन पट्टे करने का आरोप 
आपको बता दें कि अवैध खनन मामले में जांच कर रही सीबीआई इससे पहले आईएएस और बुलंदशहर की पूर्व डीएम बी. चंद्रकला से भी पूछताछ कर चुकी है। चंद्रकला पर हमीरपुर डीएम रहने के दौरान मनमाने ढंग से खनन पट्टे करने का आरोप लगा है। उनके खिलाफ भी सीबीआई जांच चल रही है। उनके पास भी अघोषित संपत्तियां मिली थीं।
सीबीआई ने दर्ज की थीं सात एफआईआर 
28 जुलाई 2016 को हाई कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई यह केस लिया था। जिसके बाद उसने सात प्राथमिक जांच दर्ज की थीं। इनमें से तीन हमीरपुर, शामली और कौशाम्बी जिलों से जुड़ी जांचों को प्राथमिकियों में तब्दील कर दिया गया। आईएएस अभय और विवेक सहित अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।
-एजेंसियां



Free website hit counter