आगरा: अच्छी खबर : जन्मजात टेढे पंजो की बीमारी से ग्रसित बच्चों का इलाज पूरी तरह से हुआ निःशुल्क

Updated 07 Oct 2019

बीमारी से ग्रसित पांच दिन के नवजात का भी शुरु हो सकता है इलाज
 
आगरा। जन्मजात टेढे पंजो की बीमारी से ग्रसित बच्चों का इलाज अब पूरी तरह से निःशुल्क हो गया है। पहले जहां इलाज के लिए बच्चे के परिवार वालों को पंद्रह  सौ रुपये खर्च करने पड़ते थे, वह अब नहीं खर्च करने होंगे। सरकार ने इलाज के दौरान बच्चों को प्लास्टर के साथ चढ़ाया जाने वाला जिप्सोना बैन्डेज निःशुल्क उपलब्ध करा दिया है। इसके लिए जिला अस्पताल को 3 अक्टूबर से  निर्देश जारी कर दिये गये है।
बुधवार और गुरुवार को होता है विशेष क्लबफुट क्लीनिक का आयोजन
इलाज के लिए अस्पताल के हड्डी रोग विभाग में प्रत्येक बुधवार और गुरुवार को विशेष क्लबफुट क्लीनिक का आयोजन किया जाता है। इस दौरान राष्ट्ीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम  की टीम की ओर से संदर्भित किये गये बच्चों को निःशुल्क जिप्सोना बैन्डेज प्लास्टर चढ़ाया जाता है। प्लास्टर हटने के बाद बच्चों को मिराकेल फीड इण्डिया संस्था की तरफ से एक विशेष प्रकार के जूते ब्रासेस उपलब्ध कराये जाते हैं। एनएचएम के डीईआईसी मैनेजर रमाकान्त ने बताया कि राष्ट््रीय स्वास्थ्य मिशन की तरफ से जिला अस्पताल को पत्र लिखकर निःशुल्क जिप्सोना बैन्डेज उपलब्ध कराने को कहा गया है। बीते 3 अक्टुबर को इसी आदेश के पालन में जिला अस्पताल के सीएमएस ने जिप्सोना बैन्डेज उपलब्ध करा दिये है। उन्होंने बताया कि टेढे पंजो की बीमारी से ग्रसित बच्चों का इलाज जितनी जल्दी शुरु हो जाये उतने ही अच्छे परिणाम सामने आते हैं। उन्होंने बताया कि पांच दिन के नवजात शिशु अगर इस बीमारी से ग्रसित है तो उसका इलाज शुरु किया जा सकता है।
पहले लगते थे पंद्रह सौ  रुपये 
मिराकेल फीड इण्डिया संस्था के जिला समन्वयक अभिनव ने बताया कि इस बीमारी से ग्रसित बच्चे के इलाज के दौरान पांच बार प्लास्टर चढ़ाया जाता है। प्रत्येक प्लास्टर में तीन सौ  रुपये की लागत का जिप्सोना बैन्डेज लगता था। पांच बार में पंद्रह  सौ रुपये बच्चे के परिवार को खर्च करने पड़ते थे। लेकिन सरकार की तरफ से यह निःशुल्क उपलब्ध कराये जाने से लोग की परेशानी कम हो जायेगी।
जन्मजात टेढे पंजो की बीमारी से ग्रसित से बच्चों के इलाज में लगने वाले जिप्सोना बैन्डेज को रोगी कल्याण समिति के माध्यम से पूरी तरह निःशुल्क उपलब्ध  करा दिया गया है। 
डाॅ. सतीश वर्मा
चीफ मेडिकल सुपरीटेन्डेन्ट
जिला अस्पताल, आगरा



Free website hit counter