आगरा: बड़ी कार्यवाई : मदयानंद आश्रम हुआ सील, संचालक के खिलाफ हुआ मुकदमा दर्ज, बच्चे किये गए शिफ्ट

Updated 07 Oct 2019

आगरा के अनाथालय में 41 बच्चे रह रहे थे, यही इनका घर और परिवार था, एक घटना ने बच्चों के सिर से छत धीन ली, यहां रह रहे बच्चों को शिफ्ट किया गया है।

आगरा के एत्माउददौला क्षेत्र के अनाथालय की छत से तीन अक्टूबर को 16 वर्षीय युवती ने यमुना में छलांग लगा दी थी, स्थानीय लोगों ने उसे बचा लिया। युवती ने अनाथालय में तीन युवकों द्वारा रेप करने के आरोप लगाए थे, इस मामले में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट किया है।इसमें से एक अनाथालय का सफाई कर्मी, दूसरा रसोइये और तीसरा युवक अनाथालय में ही रह रहा था। इन तीनों को जेल भेज दिया है।

बीयर की कैन और यूज्ड कंडोम किए थे जब्त

युवती द्वारा रेप के आरोप लगाए जाने के बाद म​हिला आयोग की उपाध्यक्ष सुषमा सिंह ने अनाथालय का निरीक्षण किया, अनाथालय में खाली बीयर की केन और टायलेट में यूज्ड कंडोम मिले थे।
अनाथालय किया सील
इस मामले में रविवार को सीडीओ और एसडीएम ने कार्रवाई की, अनाथालय को सील कर दिया है। बिना अनुमति और पंजीकरण के अनाथालय संचालित करने पर मुकदमा दर्ज किया गया है, इसमें आश्रम में रह रहे बच्चों की उपेक्षा के आरोप लगाए हैं। सीडीओ जे रीभा और एसडीएम एत्मादपुर ज्‍योति राय आश्रम पहुंच कर प्रक्रिया को पूरा करा रही हैं। जेजे एक्ट में पंजीकरण न होने और अनियमितताओं को लेकर आश्रम प्रबंधन के खिलाफ एत्माद्दौला थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।




Free website hit counter